| |

मोदी ने फॉक्सकॉन प्रमुख से मुलाकात की, भारत के लिए निर्माण योजनाओं की सराहना की

Advertisements


नई दिल्ली, 23 जून (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ताइवान की मैन्युफैक्च रिंग कंपनी फॉक्सकॉन के चेयरमैन यंग लियू से मुलाकात की और देश में कंपनी की इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्च रिंग योजनाओं की सराहना की।

मोदी ने एक ट्वीट में कहा, फॉक्सकॉन के चेयरमैन यंग लियू से मिलकर खुशी हुई। मैं सेमीकंडक्टर्स सहित भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण क्षमता के विस्तार की उनकी योजनाओं का स्वागत करता हूं।

ताइवान की कंपनी भारत में एक इलेक्ट्रिक वाहन निर्माण संयंत्र स्थापित करने की भी योजना बना रही है।

फॉक्सकॉन की ईवी निर्माण इकाई, फॉक्सट्रॉन, भारत सहित दक्षिण-पूर्व एशिया में विभिन्न स्थानों पर विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने की योजना बना रही है।

लियू ने वेदांता ग्रुप के ग्लोबल मैनेजिंग डायरेक्टर ऑफ डिस्प्ले एंड सेमीकंडक्टर बिजनेस, आकाश हेब्बार से भी मुलाकात की, ताकि देश में सेमीकंडक्टर चिप्स के निर्माण के लिए उनकी प्रस्तावित साझेदारी के अगले कदमों पर चर्चा की जा सके।

वेदांता और फॉक्सकॉन ने भारत में एक संयुक्त उद्यम कंपनी बनाने के लिए फरवरी में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

संयुक्त उद्यम में वेदांता की 60 फीसदी हिस्सेदारी होगी जबकि फॉक्सकॉन की 40 फीसदी हिस्सेदारी होगी।

सेमीकंडक्टर्स और डिस्प्ले मैन्युफैक्च रिंग के लिए प्रोडक्शन-लिंक्ड इंसेंटिव (पीएलआई) स्कीम की घोषणा के बाद इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्च रिंग स्पेस में यह पहला ज्वाइंट वेंचर है।

वेदांता भारत में डिस्प्ले और सेमीकंडक्टर चिप्स बनाने के लिए अगले 5-10 वर्षों में चरणबद्ध तरीके से लगभग 15 बिलियन डॉलर का निवेश करने की योजना बना रहा है।

कंपनियों ने कहा कि संयुक्त उद्यम अगले दो वर्षों में सेमीकंडक्टर विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने पर विचार करेगा।

–आईएएनएस

आरएचए/एएनएम


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.