|

ट्वीटर बोर्ड की मंशा, पूरी हो मस्क से डील

Advertisements


सैन फ्रांसिस्को, 18 मई (आईएएनएस)। एलन मस्क और ट्वीटर के सीईओ पराग अग्रवाल के बीच नोकझोंक जारी रहने के बावजूद ट्वीटर बोर्ड चाहता है कि मस्क अपनी 44 अरब डॉलर की अधिग्रहण डील पूरी कर लें।

ट्वीटर बोर्ड ने मंगलवार को ब्लूमबर्ग को बताया कि अधिग्रहण समझौते का पूरा होना सभी शेयरधारकों के हित में है। बोर्ड इस लेनदेन को पूरा करके विलय समझौते को लागू करना चाहता है।

इस डील के पूरा होने से गोल्डमैन सैश और जेपी मॉगर्न को संयुक्त रूप से 13.3 करोड़ डॉलर फीस के रूप में मिलेगी। इन्होंने ही ट्वीटर को इस डील के संबंध में सलाह दी थी।

टेस्ला के सीईओ मस्क ने मंगलवार को कहा था कि जब तक ट्वीटर के सीईओ पराग अग्रवाल ट्वीटर पर मौजूद बॉट (फर्जी अकांउट) की सही संख्या नहीं बताते, तब तक 54.20 डॉलर प्रति शेयर के आधार पर तय हुई 44 अरब डॉलर की डील आगे नहीं बढ़ेगी।

ट्वीटर का कहना है कि उसके प्लेटफॉर्म पर ऐसे फर्जी खातों की संख्या पांच प्रतिशत से भी कम है लेकिन मस्क का दावा है कि यह संख्या 50 प्रतिशत तक हो सकती है। मस्क चाहते हैं कि पराग इस मामले में सच बोलें।

मस्क ने सोमवार को मयामी में हुये एक टेक सम्मेलन में इतना तक कह दिया था कि ट्वीटर को कम कीमत में खरीदने के विकल्प पर विचार किया जा सकता है क्योंकि माइक्रो ब्लॉगिंग साइट अपने विज्ञापनदाताओं से यूजर्स की सही संख्या छुपा रहा है।

मस्क ने कहा कि ट्वीटर ने अपनी नियामकीय फाइलिंग में फर्जी अकांउट की जितनी संख्या बताई है, वास्तव में ऐसे अकांउट की संख्या कम से कम चार गुना अधिक हो सकती है। मस्क ने यह भी कहा कि आयोग को ट्वीटर के दावों के जांच करनी चाहिये।

डील की शर्तों के अनुसार, मस्क अगर इस डील को रद्द करते हैं तो उन्हें ट्वीटर को एक अरब डॉलर अदा करना होगा और अगर यह डील ट्वीटर रद्द करता है, तो उसे भी इतनी ही रकम मस्क को देनी होगी।

–आईएएनएस

एकेएस/एमएसए


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.