|

यूपी के बाद बीजेपी को बुलडोजर में दिख रहा चुनावी जीत का टिकट

Advertisements


नई दिल्ली, 14 मई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में चुनावी सफलता हासिल करने के बाद, भाजपा को विश्वास होने लगा है कि आने वाले चुनावों में बुलडोजर अन्य राज्यों में भी जीत दिला सकता है।

कई भाजपा शासित राज्यों ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बुलडोजर अंदाज को अपनाया। हिंसा और जघन्य अपराध में शामिल लोगों के खिलाफ इसे इस्तेमाल करके एक कड़ा संदेश देने की कोशिश की।

बुलडोजर की शुरूआत उत्तर प्रदेश से हुई और मध्य प्रदेश, गुजरात और दिल्ली में इसका असर जारी है। भाजपा शासित कर्नाटक भी कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए बुलडोजर चलाने पर विचार कर रहा है।

जिन मुख्यमंत्रियों ने अवैध निर्माण और अतिक्रमणों को गिराने का काम किया, वे हैं – बुलडोजर बाबा (योगी आदित्यनाथ), और बुलडोजर मामा (शिवराज सिंह चौहान) ।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता को बुलडोजर भैया कहा जाता है, क्योंकि इन्होंने पार्टी शासित नगर निगमों को अतिक्रमण हटाने के लिए बुलडोजर चलाने का निर्देश दिया था।

भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि बुलडोजर निर्दोष लोगों की संपत्ति नहीं तोड़ रहे हैं, बल्कि केवल दंगाइयों और अपराधियों या सरकार की जमीन पर कब्जा करने वाले लोगों की संपत्ति को नष्ट कर रहे हैं।

भाजपा के एक पदाधिकारी ने कहा, मेरे समेत भाजपा में कई लोग सोचते हैं कि अगर कोई सरकार असामाजिक तत्वों की संपत्तियों के खिलाफ बुलडोजर का इस्तेमाल करने का फैसला करती है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है।

राष्ट्रीय राजधानी के शाहीन बाग में अतिक्रमण अभियान के बाद, केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा था कि अवैध और गैरकानूनी हरकतों को सांप्रदायिक रंग देना एक फैशन बन गया है और अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई के लिए बुलडोजर को बदनाम किया जा रहा है।

दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता आदित्य झा ने आईएएनएस को बताया कि यह शहर में अवैध अतिक्रमण के खिलाफ एक अभियान था, न कि व्यक्ति या समुदाय के खिलाफ।

आदित्य झा ने कहा, यह एक अतिक्रमण विरोधी अभियान है और यह तब तक जारी रहेगा जब तक दिल्ली के लोगों को अतिक्रमण से राहत नहीं मिल जाती।

भाजपा ने विपक्ष, खासकर कांग्रेस पर भी कटाक्ष करते हुए कहा कि भारत में सबसे पहले इंदिरा गांधी ने तुर्कमान गेट पर अल्पसंख्यकों पर बुलडोजर के इस्तेमाल का आदेश दिया था।

भाजपा के राष्ट्रीय सूचना और प्रौद्योगिकी विभाग के प्रभारी अमित मालवीय ने ट्वीट किया था, क्या कांग्रेस पार्टी में मनीष तिवारी से लेकर राहुल गांधी तक हर कोई भूलने की बीमारी से पीड़ित है, या वे अपने अतीत के बारे में केवल गलत जानकारी रखते हैं। नाजियों और यहूदियों को भूल जाओ। भारत में सबसे पहले इंदिरा गांधी ने तुर्कमान गेट पर अल्पसंख्यकों पर बुलडोजर के इस्तेमाल का आदेश दिया था।

–आईएएनएस

पीके/आरएचए


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.