|

धमकी भरे पत्र पर कड़ा रुख अपनाएगा पाकिस्तान

Advertisements


इस्लामाबाद, 31 मार्च (आईएएनएस)। पाकिस्तान की राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) ने गुरुवार को फैसला किया कि पाकिस्तान उस देश के प्रति एक कड़ा रुख अपनाएगा, जिसके अधिकारी ने धमकी भरे पत्र को प्रसारित किया है।

जियो न्यूज ने अपनी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी है।

पीएम कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया है, समिति ने फैसला किया है कि पाकिस्तान इस्लामाबाद और देश की राजधानी में राजनयिक मानदंडों को ध्यान में रखते हुए उचित माध्यम से देश के लिए एक मजबूत डिमार्च (कार्रवाई के लिए आह्वान या आपत्ति जताना) जारी करेगा।

एनएससी की 37वीं बैठक प्रधानमंत्री कार्यालय में प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में हुई, जहां राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद युसूफ ने समिति को एक विदेशी देश के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा उस देश में औपचारिक बैठक में पाकिस्तान के राजदूत को औपचारिक संचार के बारे में जानकारी दी।

बयान में कहा गया है कि पाकिस्तानी राजदूत ने विदेशी अधिकारी के संदेश को विदेश मंत्रालय को विधिवत बताया।

बयान में कहा गया है कि रक्षा, ऊर्जा, सूचना और प्रसारण, आंतरिक, वित्त, मानवाधिकार, योजना, विकास और विशेष पहल के संघीय मंत्री, अध्यक्ष, संयुक्त चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी, सेवा प्रमुख, एनएसए और वरिष्ठ अधिकारी बैठक में शामिल हुए।

एनएससी ने विदेशी अधिकारी द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा को अराजनयिक या अकूटनीतिक करार देते हुए संचार पर गंभीर चिंता व्यक्त की।

जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, समिति ने निष्कर्ष निकाला कि यह संचार देश द्वारा पाकिस्तान के आंतरिक मामलों में खुला हस्तक्षेप है, जो किसी भी परिस्थिति में अस्वीकार्य है।

प्रतिभागियों ने राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की इन-कैमरा ब्रीफिंग के माध्यम से संसद को विश्वास में लेने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में एक दिन पहले हुई विशेष कैबिनेट बैठक में संघीय कैबिनेट के फैसले का भी समर्थन किया।

27 मार्च को एक पीटीआई रैली को संबोधित करते हुए इमरान खान ने खुलासा किया था कि विदेशी तत्व उनकी सरकार को गिराने की कोशिशों में शामिल हैं। उन्होंने कहा था कि हमारे अपने कुछ लोगों का इस्तेमाल इसके लिए किया जा रहा है।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.