|

जम्मू-कश्मीर कैडर के 17 आईपीएस अधिकारियों को पदोन्नत किये जाने की संभावना

Advertisements


जम्मू, 8 फरवरी (आईएएनएस)। संयुक्त विभागीय पदोन्नति समिति (डीपीसी) की बुधवार को बैठक के बाद 17 आईपीएस अधिकारियों को जम्मू-कश्मीर में विभिन्न उच्च पदों पर पदोन्नत किए जाने की संभावना है।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि दो आईपीएस अधिकारियों को पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) के पद पर पदोन्नत किया जाएगा। ये हेमंत कुमार लोहिया और पंकज सक्सेना हैं। ये दोनों जम्मू-कश्मीर कैडर के हैं और वर्तमान में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं।

चार आईजीपी को अतिरिक्त डीजीपी का उच्च पद मिलेगा। इनमें आलोक कुमार, विप्लव कुमार चौधरी, विजय कुमार और गरीब दास शामिल हैं। इनमें से विप्लव कुमार एनआईए में प्रतिनियुक्ति पर हैं। ये सभी आईपीएस के 1997 बैच के हैं।

पांच डीजीपी को आईजीपी के रूप में पदोन्नत किए जाने वाले- उत्तम चंद, विधि कुमार बर्डी, केशव राम, अतुल कुमार गोयल और भीम सेन तूती शामिल हैं।

इनमें से विधि कुमार बर्डी और केशव राम केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं, जबकि भीम सेन तूती यूके में अध्ययन अवकाश पर हैं।

डीआईजी के रूप में पदोन्नत होने वाले तीन एसएसपी में तेजिंदर सिंह, वर्तमान में एनआईए में प्रतिनियुक्ति पर, अब्दुल जब्बार, वर्तमान में डीआईजी दक्षिण कश्मीर अनंतनाग रेंज और उदयभास्कर बिल्ला, वर्तमान में डीआईजी उत्तरी कश्मीर बारामूला रेंज के रूप में कार्य कर रहे हैं।

2009 बैच के तीन आईपीएस अधिकारियों के पक्ष में 13 वर्ष की अर्हक सेवा पूरी करने पर आईपीएस का चयन ग्रेड प्रस्तावित किया गया है।

इनमें लमतियाज इस्माइल पारे, एसएसपी क्राइम ब्रांच कश्मीर, शैलेंद्र राजेश मिश्रा और राहुल मलिक शामिल हैं, दोनों वर्तमान में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं।

बुधवार को होने वाली डीपीसी की बैठक की अध्यक्षता मुख्य सचिव अरुण कुमार मेहता करेंगे। समिति के सदस्यों में उमंग नरूला, लद्दाख के उपराज्यपाल के सलाहकार, शालीन काबरा, प्रमुख सचिव गृह विभाग जम्मू-कश्मीर, सचिव गृह विभाग लद्दाख, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) जम्मू-कश्मीर दिलबाग सिंह और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (पुलिस बल के प्रमुख), लद्दाख एस.एस. खंडारे हैं।

–आईएएनएस

एचके/आरएचए


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.