|

कांग्रेस बजट सत्र में किसानों के मुद्दे और चीनी घुसपैठ के मसले को उठाएगी

Advertisements


नई दिल्ली, 28 जनवरी ( LHK MEDIA)। कांग्रेस संसद के आगामी बजट सत्र में किसानों की हालत ,चीनी घुसपैठ , कोरोना पीड़ितों के लिए राहत पैकेज, एयर इंड़िया की ब्रिकी और अन्य मसलों को उठाएगी जिसके चलते सत्र के हंगामेदार रहने के आसार हैं।

इस आशय का निर्णय शुक्रवार को कांग्रेस संसदीय पार्टी के रणनीतिक समूह की बैठक में लिया गया और इसकी अध्यक्षता पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने की।

यह बैठक सोमवार को आहूत की जाने वाली केन्द्र की ओर से सर्वदलीय बैठक से पहले बुलाई गई है जिसमें सभी पार्टियों से संसद के कामकाज को सुचारू रूप से चलाने की अपील किए जाने की उम्मीद है।

आज हुई बैठक में कांग्रेस सांसदों सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी, ए.के. एंटनी, के.सी. वेणुगोपाल, आनंद शर्मा, गौरव गोगोई, के सुरेश, जयराम रमेश, मनिकम टैगोर, मनीष तिवारी और अन्य ने हिस्सा लिया।

शीतकालीन सत्र में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कांग्रेस से अलग होने के साथ विपक्ष विभाजित हो गया था और सांसदों के निलंबन के बावजूद कोई संयुक्त रणनीति नहीं बन पाई थी। हालांकि कांग्रेस ने टीएमसी को अपने साथ रखने की पूरी कोशिश की थी। तेलंगाना में धान खरीद के मुद्दे पर तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) जैसे कुछ दल विपक्षी खेमे में शामिल हो गए थे।

सोमवार को दोपहर तीन बजे से सदन के नेताओं की बैठक होगी। जहां सरकार एजेंडे और विधायी कार्य पर चर्चा करेगी ।

बजट सत्र उसी दिन सुबह 11 बजे राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ शुरू होगा और उसके बाद आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को आम बजट पेश करेंगी।

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने ट्विटर पर कहा दोनों सदनों के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के संबोधन के साथ बजट सत्र का पहला भाग 31 जनवरी से शुरू होगा। एक फरवरी को माननीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण केंद्रीय बजट पेश करेंगी। कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल सुनिश्चित करने के लिए, संसद के दोनों सदन शिफ्ट में काम करेंगे।

— LHK MEDIA

जेके


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.