|

आजादी के बाद दिल्ली में कुछ ही परिवारों का नया विकास हुआ : प्रधानमंत्री

Advertisements


नई दिल्ली, 21 जनवरी ( LHK MEDIA)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि आजादी के बाद नया विकास दिल्ली में कुछ ही परिवारों के लिए था, लेकिन आज देश उस सोच को पीछे छोड़कर गौरव स्थलों का नया निर्माण कर रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुजरात के सोमनाथ में नए स*++++++++++++++++++++++++++++र्*ट हाउस का उद्घाटन किया।

इस दौरान पीएम मोदी ने न्यू कंस्ट्रक्शन को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, आजादी के बाद दिल्ली में कुछ गिने-चुने परिवारों के लिए ही नया निर्माण हुआ। लेकिन आज देश उस संकीर्ण सोच को पीछे छोड़कर, नए गौरव स्थलों का निर्माण कर रहा है, उन्हें भव्यता दे रहा है। ये हमारी ही सरकार है, जिसने दिल्ली में बाबा साहेब मेमोरियल का निर्माण किया। इसी तरह नेताजी सुभाष चंद्र बोस और श्यामजी कृष्ण वर्मा से जुड़े स्थानों को उचित दर्जा दिया गया है।

पीएम मोदी ने कहा, मुझे बताया गया है कि नए स*++++++++++++++++++++++++++++र्*ट हाउस को इस तरह बनाया गया है कि यहां रुकने वाले व्यक्तियों को सी व्यू भी मिलेगा। यानी लोग जब यहां शांति से अपने कमरे में बैठेंगे, तो उन्हें समुद्र की लहरें भी दिखेंगी और सोमनाथ का शिखर भी नजर आएगा। सोमनाथ एक प्रकार से इस पूरे पर्यटन क्षेत्र का एक केंद्र बिंदु बन जाएगा। जिन परिस्थितियों में सोमनाथ मंदिर को तबाह किया गया और फिर जिन परिस्थितियों में सरदार पटेल जी के प्रयासों से मंदिर का जीर्णोद्धार हुआ, वो दोनों ही हमारे लिए एक बड़ा संदेश हैं।

नव विकसित स्थानों की संभावनाओं पर प्रकाश डालते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि महामारी के बावजूद 75 लाख लोग स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने आए हैं और ऐसे स्थान पर्यटन के साथ-साथ हमारी पहचान को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पर्यटन दुनिया के कई देशों की अर्थव्यवस्था में एक प्रमुख भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा, हमारे पास हर राज्य और हर क्षेत्र में इस तरह की अनंत संभावनाएं हैं।

उन्होंने रामायण स*++++++++++++++++++++++++++++र्*ट में 15 थीम आधारित पर्यटन स*++++++++++++++++++++++++++++र्*ट, भगवान राम से संबंधित स्थानों का दौरा करने और एक विशेष ट्रेन शुरू करने जैसे उपायों को सूचीबद्ध किया।

प्रधानमंत्री ने बताया कि शनिवार को दिव्य काशी यात्रा के लिए दिल्ली से स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है। इसी तरह बुद्ध स*++++++++++++++++++++++++++++र्*ट भगवान बुद्ध से संबंधित स्थानों की यात्रा को आसान बना रहा है और विदेशी पर्यटकों के लिए वीजा नियमों में ढील दी गई है और पर्यटन स्थलों को टीकाकरण अभियान में प्राथमिकता दी गई है।

प्रधानमंत्री ने कहा, ये स्थान हमारी राष्ट्रीय एकता और एक श्रेष्ठ भारत की भावना का प्रतिनिधित्व करते हैं। आज, देश उन्हें समृद्धि के एक मजबूत स्रोत के रूप में भी देखता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश पर्यटन को समग्र रूप से देख रहा है और आज के समय में पर्यटन को विकसित करने के लिए सबसे पहले चार चीजें जरूरी हैं। दूसरे, सुविधाओं का दायरा केवल पर्यटन स्थलों तक ही सीमित नहीं होना चाहिए, समय पर्यटन बढ़ाने का तीसरा महत्वपूर्ण पहलू है और पर्यटन को बढ़ाने के लिए चौथी और बहुत महत्वपूर्ण बात हमारी सोच है।

प्रधानमंत्री ने वोकल फॉर लोकल के अपने आह्वान की एक संकीर्ण व्याख्या न करने की सलाह दी और कहा कि कॉल में स्थानीय पर्यटन शामिल है। उन्होंने विदेश में किसी भी पर्यटन को शुरू करने से पहले भारत के कम से कम 15-20 स्थानों का दौरा करने के अपने अनुरोध को दोहराया।

इस अवसर पर गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल, राज्य के मंत्री, सांसद और मंदिर ट्रस्ट के सदस्य मौजूद थे।

— LHK MEDIA

एचएमए/आरजेएस


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.