|

असम में बिहू उत्सव के बाद कोविड के मामलों में उछाल

Advertisements


गुवाहाटी, 20 जनवरी ( LHK MEDIA)। असम के स्वास्थ्य मंत्री केशब महंत ने कहा कि फसल उत्सव भोगली बिहू के बाद में राज्य में कोविड-19 से संक्रमण के मामलों का बढ़ना जारी है। बुधवार को 8,339 मामले सामने आए।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) की रिपोर्ट के मुताबिक, असम में बुधवार रात तक संक्रमण के मामले बढ़कर 12.89 फीसदी हो गए, जबकि सोमवार को 10.75 फीसदी रहे।

बुधवार को नए मामलों के साथ, असम में कुल संख्या 6,70,128 हो गई। और 15 मौतें होने के साथ मरने वालों की संख्या 6,248 तक पहुंच गई।

राज्य के 34 जिलों में से, कामरूप (मेट्रो) जिले, राज्य की राजधानी दिसपुर और उत्तरपूर्वी क्षेत्र का मुख्य वाणिज्यिक केंद्र गुवाहाटी में बुधवार को सबसे ज्यादा 1,929 मामले दर्ज किए गए। इसके बाद डिब्रूगढ़ में 513, जोरहाट में 414 और कछार जिले में 396 मामले दर्ज किए गए।

एनएचएम की रिपोर्ट के LHK MEDIA द्वारा किए गए विश्लेषण में कहा गया है कि राज्य में पिछले 48 घंटों में कोविड से संक्रमण के मामलों में 19.43 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई। पूर्वोत्तर राज्य में पिछले सप्ताह भोगली बिहू मनाया गया था, जिसे माघ बिहू भी कहा जाता है।

बिहू उत्सव से एक दिन पहले गुरुवार को रोजाना संक्रमण दर 7.87 प्रतिशत थी, जो बुधवार की रात बढ़कर 12.89 प्रतिशत हो गई, जबकि 1 जनवरी को यह केवल 0.77 प्रतिशत थी।

एनएचएम की रिपोर्ट के अनुसार, सक्रिय कोविड मामले 1 जनवरी को 918 थे और पिछले सप्ताह गुरुवार को बढ़कर 13,785 हो गए, और बुधवार की रात 35,161 हो गए।

पिछले एक पखवाड़े में लगभग 35,000 ताजा मामलों के साथ असम में नए साल की शुरुआत के बाद से कोविड-19 मामलों में वृद्धि देखी जा रही है।

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने संक्रामक वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए लोगों से अत्यधिक सतर्कता बनाए रखने का आग्रह करते हुए मीडिया से कहा कि राज्य सरकार फिलहाल राज्य में तालाबंदी करने पर विचार नहीं कर रही है।

असम सरकार ने इस महीने की शुरुआत में स्कूलों की प्राथमिक कक्षाओं को बंद करने सहित विभिन्न प्रतिबंध लगाते हुए रात के कर्फ्यू को रात 10 बजे तक बढ़ा दिया था। अब कर्फ्यू रात 11.30 बजे से सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा।

असम सरकार ने पहले भी बिहू उत्सव के लिए कोविड प्रतिबंधों में ढील दी थी।

— LHK MEDIA

एसजीके


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.