यहाँ मां ने अजीबो-गरीब जुड़वा बच्चियों को दिया जन्म, चिकित्सकों ने बताई ऐसी सच्चाई कि पैरों तले खिसक गई जमीन

Advertisements

लाइव हिंदी खबर :- अर्जेंटीना के San Miguel de Tucumán शहर से एक ऐसा मामला सामने आया है, जो पहली नज़र में तो आपको काफी साधारण लगेगा। लेकिन जब आपको इस पूरे मामले की सच्चाई पता चलेगी तो आपकी रूह कांप जाएगी। कुछ साल पहले की बात है, San Miguel de Tucumán में एक महिला ने जुड़वा बच्चियों को जन्म दिया था।

Covid-19 Woman Gave Birth To Twins Isolated Herself - संक्रमित महिला ने जुड़वा बच्चों को दिया जन्म, कोविड अस्पताल में भर्ती होने की जगह किया खुद को होम आइसोलेट ...

जुड़वा बच्चियों को जन्म देने के बाद महिला के परिवार में काफी खुशियों का माहौल था। इतना ही नहीं महिला ने जिस अस्पताल में बच्चियों को जन्म दिया था, वहां का स्टाफ भी काफी खुश था। क्योंकि उस अस्पताल में पहले कभी जुड़वा बच्चों का जन्म नहीं हुआ था। बच्चियों के नाम कैटलिना और वर्जिनिया रख दिया गया।

लेकिन परिवार की खुशियों पर उस समय ग्रहण लग गया, जब उन्होंने अपनी आंखों से बच्चियों को देखा। दरअसल दोनों बच्चियों के बिल्कुल सफेद बाल थे, क्योंकि ऐसे मामले काफी कम देखने को मिलते हैं। फिर जब उन्हें बच्चियों के सफेद बाल के पीछे की वजह पता चली तो उनके सामने एक बड़ी मुसीबत आ खड़ी हुई। दरअसल जॉर्ज गोमेज (39) की पत्नी लीला गोमेज (39) ने जिन दो बच्चियों को जन्म दिया था, उन्हें एल्बिाइनो नाम की एक बीमारी थी। इस बीमारी को सूरजमुखी की बीमारी भी कहते हैं।

क्यों पैदा होते हैं चार हाथ-चार पांव वाले बच्चे? - BBC News हिंदी

बीमारी के बारे में पता चलने के बाद कैटलिना और वर्जिनिया के माता-पिता काफी टेंशन में आ गए। डॉक्टर्स ने बताया कि बच्चियों की बीमारी के पीछे की मुख्य वजह त्वचा में पाई जाने वाली मेलानिन पिगमेंट की कमी है। डॉक्टरों ने जॉर्ज गोमेज और लीला गोमेज को सख्त सलाह देते हुए कहा कि बच्चियों को धूप में ले जाने से पहले उन्हें काफी सावधानी बरतनी पड़ेगी। कड़ी धूप में बच्चियों की हालत और ज़्यादा खराब हो सकती थी। इसके बाद बच्चियों के माता-पिता ने डॉक्टरों की सभी बातों को ध्यान में रखा और अब वे बच्चियों की काफी देखभाल कर रहे हैं। दोनों बच्चियों के अलावा दंपति का एक बेटा भी है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.