देवी मां से बहुत करीबी है इसका रिश्ता, फिर भी लोगों को उतार रहा मौत के घाट

लाइव हिंदी खबर :- हमें हमेशा घर में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है ताकि कीड़े-मकोड़े से हमारे घर की रक्षा हो सके। इन कीट-पतंगों के चलते इंसान कई तरह की बीमारियों का शिकार हो सकता है। कभी-कभार पुराने घरों में या फिर जहां पेड़-पौधे ज्यादा होते हैं वहां कुछ ऐसे जीव या कीड़े पाए जाते हैं जो न केवल बीमारियों को बढ़ावा देते हैं बल्कि इससे इंसान की मौत तक हो सकती है।

SHARMA (KAFAN) SHOP

हम यहां चमगादड़ की बात कर रहे है। अकसर आपने ऐसा भी सुना होगा कि चमगादड़ को अशुभ माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि यदि चमगादड़ किसी घर में प्रवेश कर जाता है, तो यह घर के किसी सदस्य की मौत का संकेत होता है। इस वजह से मृत लोगों का खून चूसने वाले इस जीव को अशुभ माना जाता है।

Bat Seems Inauspicious In Home, It Gives These Indications - घर में घुस जाए ये जीव तो तुरंत कर दें बाहर, झेलनी पड़ सकती है बर्बादी | Patrika News

भारत के ज्यादातर हिस्सों में चमगादड़ को अशुभ माना जाता है तो वहीं कुछ स्थानों पर लोग इसे काफी शुभ भी मानते हैं। कई लोग इसे देवी लक्ष्मी के वाहन के रूप में भी देखते हैं। बात अगर भारत के पड़ोसी देश चीन की करें तो यहां चमगादड़ को शुभ माना जाता है। चीन में लोग अपने घरों में 5 चमगादड़ों के प्रतीक चिन्ह को रखते हैं।

ब्रिटेन में यदि किसी के घर में चमगादड़ घुस जाता है तब उस स्थिति में बिना प्रशासन की अनुमति के उसे कोई हाथ तक नहीं लगा सकता है। इस प्रकार विभिन्न जगहों में चमगादड़ के बारे में कई अलग-अलग मान्यताएं हैं। अब सवाल यह आता है कि आखिर क्यों अकसर लोग चमगादड़ को अशुभ मानते हैं? क्यों घर में किसी चमगादड़ का घुसना मौत को बुलावा देने के जैसा है?

So bats are dying from brain hemorrhage | चमगादड़ों की मौत पर भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान बरेली के निदेशक डॉ. आरके सिंह ने कही बड़ी बात

बात अगर मान्यताओं से हटकर वैज्ञानिक दृष्टिकोण की करें तो वह यह है कि इस जीव के पंखों में खतरनाक बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो यदि गलती से मानव शरीर में प्रवेश कर जाए तो उसकी मौत भी हो सकती है।

बता दें कि ऐसे कई सारे मामले आ चुके हैं जहां चमगादड़ के हमले से लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में लोगों के लिए इस बात को समझना जरूरी है कि अगर कभी यह जीव हमला बोलें तो इसे अंधविश्वास से न जोड़कर दिमाग से काम लें और तुरंत व्यक्ति को डॉक्टर के पास ले जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *