6 महीने में राजस्थान में दो लाख युवाओं को रोजगार : शकुंतला रावत


नई दिल्ली, 1 दिसम्बर (आईएएनएस)। राजस्थान के अलवर जिले से विधायक और हाल ही में गहलोत मंत्रिमंडल में शामिल हुई शकुंतला रावत ने बुधवार को कहा कि कॉमर्स मंत्रालय प्रदेश में अगले 6 महीने में दो लाख से ज्यादा युवाओं को रोजगार देगा।

राजस्थान सरकार द्वारा दिल्ली में आयोजित इन्वेस्टर्स समिट – इन्वेस्ट राजस्थान 2022 में बुधवार को उन्होंने आईएएनएस से बातचीत में कहा कि देश में युवाओं को बेरोजगारी ने बेहाल कर दिया है। मनरेगा के माध्यम से करोड़ों लोगों को कांग्रेस की सरकार ने रोजगार दिए। पेश है शकुंतला रावत से बातचीत के कुछ अंश-

सवाल दिल्ली में राजस्थान सरकार ने निवेश को लाने के लिए उद्योगपतियों के साथ समिट किया इससे प्रदेश में कितने निवेशक आएंगे?

जवाब- आपने देखा कि कितने लोगों ने एमओयू साइन किए। राजस्थान सरकार ने इन्वेस्टर्स के लिए उपयुक्त नीतियां बनाई है, प्रदेश सरकार डिस्ट्रिक्ट लेवल से लेकर ब्लॉक स्तर तक इन्वेस्टर्स के लिए नई योजनाएं तैयार कर रही है। राज्य में 78,700 करोड रुपए के नए निवेशक जुड़े हैं। ताकि राजस्थान के युवा और महिलाएं आत्मनिर्भर बन सके।

सवाल- कांग्रेस पार्टी लगातार देशभर में बेरोजगारी का मुद्दा उठा रही है, राजस्थान सरकार इस तरीके के समिट करके प्रदेश के लिए कितने नए रोजगार पैदा कर रही है?

जवाब- अगर कांग्रेस की बात की जाए तो कोरोना काल में भी कांग्रेस की सरकारों ने लाखों लोगों को रोजगार दिये। कांग्रेस की सरकार ने देश में मनरेगा लागू किया अगर नरेगा नहीं होता तो आज देश किस कगार पर आकर खड़ा होता, यह अनुमान भी नहीं लगाया जा सकता। कांग्रेस की नीतियों ने जन-जन तक रोजगार पहुंचाने का काम किया है। केवल दिल्ली में बुधवार को आयोजित इस सम्मेलन के माध्यम से राजस्थान में 2 लाख युवाओं को रोजगार मिलने जा रहा है।

सवाल- कांग्रेस पार्टी महंगाई को लेकर एक बड़ी रैली का आयोजन पहले दिल्ली में करने जा रही थी और अब 12 दिसंबर को यह रैली जयपुर में की जायेगी। किस तरीके से कांग्रेस पार्टी आमजन को जोड़ेगी, इस रैली से?

जवाब- राजस्थान कांग्रेस की तरफ से तमाम नेता इसमें शामिल होंगे। साथ ही प्रदेश के युवा, महिलाएं, जो महंगाई को लेकर बेहाल हैं। वह तमाम लोग इस रैली में शामिल होंगे। पहले यह रैली दिल्ली में प्रस्तावित थी लेकिन अब यह राजस्थान के जयपुर में आयोजित की जाएगी।

सवाल- आप पहली बार मंत्री बनी हैं, एक महिला मंत्री होने के नाते कॉमर्स मिनिस्ट्री में अब किस तरीके का काम करना चाहती हैं?

जवाब- महिला होने के नाते मंत्री पद संभालना उतना ही सामान्य है जितना किसी पुरुष के लिए। देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भी एक महिला थी लेकिन उन्होंने बेहतरीन काम किया। देश की जनता ने उन्हें बेहद सराहा। कॉमर्स मंत्रालय में तमाम पहलुओं को देखकर एक आम आदमी की जरूरतों का ध्यान रखते हुए मैं मंत्रालय का काम कर रही हूं। कोई भी जिम्मेदारी अगर महिला को दी जाती है तो महिलाएं उसमें अग्रणी रहकर काम करती हैं।

सवाल- कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान में नए जिला अध्यक्षों की नियुक्ति करने का फैसला किया है जिसकी पहली सूची बुधवार को आ चुकी है। पार्टी संगठन में लगातार बदलाव कर रही है इससे क्या पार्टी को फायदा होगा?

जवाब- इन सभी बदलावों से, चाहे मंत्रिमंडल का बदलाव हो या फिर जिला अध्यक्षों की नई सूची जारी करना। इससे संगठन मजबूत ही होगा। पार्टी को नई ऊर्जा मिलेगी। कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ेगा।

सवाल- सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच जिस तरीके से लगातार तनाव की खबरें सार्वजनिक तौर पर आ रही थीं। क्या आप मानती हैं कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद से इन दोनों के रिश्ते बेहतर हुए हैं।

जवाब- इससे पहले भी सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच में जो दूरी जो लगातार बताई जा रही थी वह केवल कया से सचिन पायलट पार्टी में बने हुए हैं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं ऐसे में किसी भी तरीके के कयास लगाना गलत है।

–आईएएनएस

पीटीके/एएनएम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *