गुड़ और जीरा का सेवन करने से सफाया हो जाता है इन 7 रोगों का, क्लिक करके जरूर देखें

लाइव हिंदी खबर (हेल्थ कार्नर ) :-  आम भारतीय रसोई में उपलब्ध गुड़ और जीरा न केवल स्वाद बढ़ाने का काम करते हैं, बल्कि इनके कई चिकित्सीय लाभ भी हैं। जीरा और गुड़ खाने से वजन कम करने में आसानी होती है।

गुड़ और जीरे का उपयोग, जो सदियों से हमारे भारतीय व्यंजनों में किया जाता रहा है, भोजन और मिठाई बनाने में, स्वास्थ्य संबंधी कई अन्य समस्याओं से छुटकारा दिला सकता है, बस सही समाधान पता होना चाहिए। आइए हम आपको उनके औषधीय गुणों के बारे में बताते हैं।

खाली पेट पीजिए जीरा और गुड़ का पानी, दूर रहेगा सरदर्द, बढ़ेगी इम्यूनिटी - Jansatta

1. सामान्य सर्दी – खांसी और फ्लू

मौसम के बदलाव के साथ, जीरा और गुड़ सर्दी, खांसी और फ्लू जैसी आम मौसमी बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए रामबाण का काम करता है। गुड़ का प्रभाव गर्म है। गर्म खाद्य पदार्थ ठंड और खांसी की समस्या से राहत दिलाने में फायदेमंद होते हैं। यही कारण है कि सर्दी, खांसी और फ्लू से जुड़े लक्षणों से राहत के लिए गुड़ के सेवन से काफी हद तक राहत मिल सकती है। विशेषकर जो लोग खांसी से परेशान हैं, रात को सोने से पहले अदरक के छोटे-छोटे टुकड़ों के साथ गुड़ का सेवन करने से आराम मिलता है।

2. पेट और पाचन स्वस्थ रखें

शरीर के लगभग 80 प्रतिशत रोग पेट से शुरू होते हैं। शरीर का लगभग सारा कामकाज पाचन तंत्र से प्रभावित होता है, जिसके कारण हमें विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व मिलते हैं और हमारे शरीर के अनुसार कार्य करते हैं। इसलिए पेट की सेहत का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। इसके लिए जीरा और गुड़ कारगर साबित होंगे, क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा पाई जाती है। फाइबर पाचन तंत्र को सुचारू रूप से काम करता है और पेट संबंधी कई प्रकार की समस्याओं से भी छुटकारा दिलाता है।

3. प्रतिरक्षा बढ़ाता है

अच्छी बात यह है कि इम्यूनिटी मजबूत करने में गुड़ और जीरा अच्छा होता है। ये दोनों खाद्य पदार्थ भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट में पाए जाते हैं। इसका सीधा प्रभाव प्रतिरक्षा कोशिकाओं की मजबूती की ओर जाता है। इसके कारण, यह प्रतिरक्षा को मजबूत करने में भी मदद करता है और आप कई प्रकार के संक्रामक रोगों से सुरक्षित रहते हैं।

4.दिल की बीमारी में रामबाण हैं

भारत में हर साल कई लोग दिल की बीमारी के कारण अपनी जान गंवा देते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, हृदय रोग के कारण सबसे अधिक मौतें पूरी दुनिया में होती हैं। गुड़ और जीरे का सेवन दिल की बीमारी से बचाता है। दरअसल, गुड़ और जीरा दोनों में कार्डियोप्रोटेक्टिव गतिविधि होती है। यह हृदय से संबंधित कई प्रकार की बीमारियों के जोखिम के लिए कई गुना काम कर सकता है। इसके कारण यह आपको दिल की बीमारी की चपेट में आने से बचा सकता है।

weight loss drink in morning: jeera cumin water for weight loss as per dietitian and know when it is beneficial to drink - Weight loss Drink: जीरा पानी पीने वाले इन बातों

5. वजन घटाने में प्रभावी

गुड़ और जीरा को एक साथ मिलाकर वजन बढ़ाया जा सकता है। वास्तव में, वसा के बढ़ते या अनियमित रूप से टाइप -2 मधुमेह और कई प्रकार के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है, और इस संबंध में वैज्ञानिक प्रमाण भी उपलब्ध हैं। जीरे के पानी को उबालकर और गुड़ के साथ सेवन करने से वजन घटाने में प्रभावी रूप से मदद मिलती है। अगर आप जीरे को भूनना चाहते हैं, तो आप इसे गुड़ के साथ खाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह मुख्य रूप से वजन कम करने के लिए कई लोगों द्वारा सेवन किया जाता है।

 

6. एनीमिया के खतरे को दूर करें

एनीमिया को शरीर में एनीमिया के रूप में जाना जाता है। यह समस्या मुख्य रूप से महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान सबसे ज्यादा परेशान करती है। अगर गुड़ में मौजूद आयरन की मात्रा का सही मात्रा में सेवन किया जाए तो एनीमिया के खतरे को कई गुना कम किया जा सकता है। वहीं, गुड़ के साथ जीरा खाने से रक्त संचार भी बहुत अच्छा होता है।

7. उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करें

उच्च रक्तचाप की समस्या को उच्च रक्तचाप के रूप में भी जाना जाता है। इसके कारण हृदय रोग से संबंधित कई प्रकार की बीमारियाँ और स्ट्रोक भी बढ़ जाते हैं। जबकि जीरा और गुड़ में मौजूद पोटेशियम और मैग्नीशियम की मात्रा उच्च रक्तचाप की समस्या को कम करने के लिए प्रभावी रूप से काम कर सकती है। इसलिए जिन लोगों को उच्च रक्तचाप है, उन्हें डॉक्टर की सलाह के बाद नियमित रूप से जीरा और गुड़ का सेवन करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *