एयरपोर्ट के बाद अब बस और रेलवे स्टेशन पर होगी आरटीपीसीआर जांच


लखनऊ, 1 दिसंबर(आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश सरकार अब कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रान को लेकर सर्तकता बरत रही है। कई देशों में ओमीक्रान के बढ़ते मामलों के बीच सर्वाधिक आबादी वाले प्रदेश के सभी बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन व एयरपोर्ट पर अतिरिक्त सर्तकता बरतने के निर्देश बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को दिए हैं। मुख्यमंत्री ने उच्च स्तरीय बैठक में मास्क को अनिवार्य करने और कोविड प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन कराने के आदेश जारी किए हैं।

मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि दूसरे देशों और प्रदेशों से उत्तर प्रदेश आ रहे हर व्यक्ति की आरटीपीसीआर जांच की जाए। उन्होंने कहा कि बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन व एयरपोर्ट पर अतिरिक्त सतर्कता बरतने के साथ ही बिना जांच किए किसी यात्री को बाहर न आने दिया जाए। पहले चरण में इंटरस्टेट कनेक्टिविटी वाले बस स्टेशन पर जांच को तेजी से बढ़ाते हुए अतिरिक्त सतर्कता बरतें। योगी ने केंद्र सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइंस को प्रभावी रूप से लागू किए जाने के आदेश दिए।

मुख्यमंत्री योगी ने कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रान को लेकर प्रदेश में जीनोम सीक्वेंसिंग की रफ्तार को बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। लखनऊ के केजीएमयू, पीजीआई में जीनोम सीक्वेंसिंग की रफ्तार को बढ़ाने के निर्देश देते हुए सीएम ने गोरखपुर, झांसी, मेरठ में तेजी से जीनोम सीक्वेंसिंग की व्यवस्था करने के आदेश दिए हैं।

कोविड टीके की दोनों खुराक पाने वालों की संख्या सबसे अधिक राज्य में है। यूपी में 05 करोड़ 06 लाख से अधिक लोगों को टीके की दोनों डोज देकर कोविड का सुरक्षा कवर प्रदान कर दिया गया है। 11 करोड़ 25 लाख लोगों ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह संख्या टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी की लगभग 76.20 फीसदी से अधिक है। इस प्रकार प्रदेश में अब तक 16 करोड़ 31 लाख से अधिक कोविड वैक्सीन के डोज लगाए जा चुके हैं। कोविड टेस्टिंग और टीकाकरण में उत्तर प्रदेश देश में शीर्ष स्थान पर है। प्रदेश में बीते 24 घंटों में 01 लाख 53 हजार 569 टेस्ट किए गए, जिसमें 07 नए मामलों की पुष्टि हुई। अब तक यूपी में 8 करोड़ से अधिक टेस्ट किए जा चुके हैं। प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 100 से कम होकर 92 पहुंच गई है। इसके साथ ही प्रदेश का रिकवरी रेट अब 98.7 प्रतिशत पहुंच गया है।

प्रदेश में अब तक 525 ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हैं। मुख्यमंत्री ने नगर विकास और ग्राम्य विकास विभाग को स्वच्छता और सैनिटाइजेशन की कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में अब पब्लिक एड्रेस सिस्टम की मदद से जागरूक करने की कवायद को शुरू किया जाएगा। वहीं, दिव्यांग, अक्षम, निराश्रित, वृद्धजनों से संपर्क कर प्राथमिकता पर उनका टीकाकरण कराया जाएगा।

–आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.