भारतीय सेना में शामिल किये गये इजरायल के अत्याधुनिक जासूसी विमान

परिष्कृत-जासूस-विमान
Advertisements

लाइव हिंदी खबर :- इस्राइल के अत्याधुनिक हेरॉन जासूसी विमानों को भारतीय सेना में शामिल किया गया है। संयुक्त राज्य अमेरिका और इज़राइल ड्रोन के उत्पादन में अग्रणी हैं। भारतीय सेना में इजरायली हेरॉन जासूसी विमान पहले से ही उपयोग में हैं। ये लद्दाख सीमा पर जासूसी करने में शामिल हैं।

संघीय रक्षा मंत्रालय ने इस संदर्भ में उन्नत हेरॉन जासूसी विमान इस्राइल से खरीदे हैं। तदनुसार भारतीय सेना में 4 बगुले जोड़े गए हैं। चीनी सैन्य खतरा बढ़ने पर इन्हें लद्दाख सीमा पर उड़ाया जाएगा। आधुनिक हेरॉन जासूसी विमान 35,000 फीट की ऊंचाई पर 52 घंटे तक लगातार उड़ान भर सकते हैं। फिलहाल इनका इस्तेमाल सिर्फ जासूसी के लिए किया जाना है। सैन्य सूत्रों ने कहा कि निकट भविष्य में इन जासूसी विमानों से हमला किया जाएगा।

भारतीय नौसेना ने दो अमेरिकी प्रीडेटर जासूसी विमानों को लीज पर लिया है और उनका इस्तेमाल किया है। इस तरह के 30 जासूसी विमान खरीदने के लिए केंद्र सरकार अमेरिका से बातचीत कर रही है। रक्षा विभाग के सूत्रों ने बताया कि तीनों सेनाओं में अमेरिकी जासूसी विमान जोड़े जाएंगे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.