यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने यात्राओं पर दिया जोर


लखनऊ, 1 दिसम्बर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी छह यात्राएं शुरू करने जा रही है, जो राज्य के सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी। पार्टी ने 2017 के राज्य चुनावों से पहले भी इसी तरह की यात्राएं निकाली थीं।

पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा, पिछली यात्राओं का उद्देश्य पिछली सरकार को बेनकाब करना था, लेकिन यह यात्रा कैडरों को हमारी उपलब्धियों के बारे में बताने और लोगों का आशीर्वाद लेने के लिए होगी।

7 दिसंबर से शुरू होने वाली इस यात्रा का समन्वय पार्टी के दलित नेता विद्या सागर सोनकर करेंगे। वे संभवत: छह संगठनात्मक क्षेत्रों में से प्रत्येक से छह अलग-अलग स्थानों से यात्रा शुरू करेंगे और लखनऊ में एक रैली के साथ यात्रा को समाप्त करेंगे, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संबोधित किए जाने की संभावना है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस), भाजपा के वैचारिक संरक्षक, इन यात्राओं के लिए जनता को प्रेरित करने में भी शामिल होंगे, जो उन 78 सीटों पर भी ध्यान केंद्रित करेंगे जो भाजपा 2017 के चुनावों में जीतने में विफल रही थी।

अधिकारी ने कहा ये यात्रा चुनाव टिकट वितरण से पहले आयोजित की जाएगी। राज्य में जीत हासिल करने के लिए, भाजपा विभिन्न विधानसभा सीटों पर मौजूद सांसदों को बदलने का प्रयास कर सकती है।

दिलचस्प बात यह है कि यात्रा विशेष रूप से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव के लोकसभा क्षेत्र आजमगढ़ जैसे विपक्षी गढ़ों पर अधिक ध्यान केंद्रित करेगी।

यात्रा को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता जीशान हैदर ने जानकारी देते हुए कहा हमें उम्मीद है कि ये यात्राएं हाथरस और लखीमपुर खीरी जैसे क्षेत्रों से होकर गुजरेंगी जहां सत्ताधारी दल और उसके नेताओं द्वारा गरीबों, दलितों और किसानों पर अत्याचार किए गए थे।

–आईएएनएस

एचएमए/एसकेके

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.