जज ने गरीब दलित छात्र को कॉलेज फीस 15,000 रुपये देने की पेशकश, जानिए क्या है पूरा मामला

लाइव हिंदी खबर :- उत्तर प्रदेश के छात्र संस्कृति रंजन (17) ने उच्च शिक्षा के लिए जेईई एडवांस परीक्षा उत्तीर्ण की है। उस श्रेणी की सूची में दलित छात्र को 1,469वां स्थान मिला था। उन्हें वाराणसी में IIT-PHU (बनारस हिंदू विश्वविद्यालय) में जगह मिली।

लेकिन वह निर्धारित समय के भीतर कॉलेज के लिए 15,000 रुपये की मूल फीस का भुगतान नहीं कर सका। इसके बाद छात्र ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की। “मेरे पिता बीमार हैं। इसलिए मुझे अपनी कॉलेज की फीस कैंसिल करनी होगी और मेरे लिए जगह ऑर्डर करनी होगी।”

यह याचिका न्यायाधीश दिनेश कुमार सिंह कल कोर्ट में पेश हुए। फिर उन्होंने कहा कि वह सिर्फ 15,000 रुपये कॉलेज फीस के तौर पर देगा न्यायाधीश ने घोषणा की। उन्होंने कॉलेज प्रशासन को छात्र को पहले से आवंटित स्थान की पुष्टि करने का भी आदेश दिया। उन्होंने छात्र को 3 दिनों के भीतर कॉलेज में शामिल होने का भी निर्देश दिया। इस बीच हाईकोर्ट के वकीलों ने छात्र की सारी ट्यूशन फीस उसके नाम पर जमा कराने का फैसला किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.