यहाँ तेंदुए ने पांच साल के मासूम की ली जान, दहशत में गांव निवासी

घटना पखवाड़े के आखिरी पखवाड़े की है जब एक तेंदुए ने बढ़ई के बेटे पर हमला कर उसे मार डाला। इससे येनकेकर के मन में दहशत पैदा हो गई है। वन विभाग ने तेंदुओं पर नियंत्रण के लिए अभियान शुरू किया है। इसके लिए पिंजड़े बनाए गए थे। ट्रैप कैमरे लगे हैं। तेंदुआ पिंजरे में फंस गया। उसे सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया। इसी इलाके में एक और तेंदुआ दिखाई दिया। इसके चलते ग्रामीण अब सो रहे हैं।

इस बात को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है कि वास्तव में कितने तेंदुए हैं। किसी भी समय हमले के डर से लोग शिवरा जाने से डरते हैं। खेती की गतिविधियां इतनी व्यस्त हैं। तेंदुओं के डर से गन्ना काटने वाले मजदूरों का जत्था बाहर निकल आया है। गिरोह चले गए हैं। इसलिए गन्ना कटाई का मामला अब किसानों के सामने है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.