अभिनेत्री का पेज हैक होने पर अदालत ने फेसबुक से मांगा जवाब


नई दिल्ली, 30 नवंबर (आईएएनएस)। दिल्ली उच्च न्यायालय ने भोजपुरी फिल्म अभिनेत्री नेहा श्री द्वारा दायर याचिका पर मंगलवार को फेसबुक से जवाब मांगा। याचिका में फेसबुक और अन्य को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपने फेसबुक पेज और अकाउंट तक पहुंच बहाल करने का निर्देश देने की मांग की गई थी। कहा गया गया है कि हैक कर इन खातों का उपयोग अवैध सामग्री पोस्ट करने के लिए किया जा रहा है।

न्यायमूर्ति रजनीश भटनागर की पीठ ने मामले में प्रतिवादियों- फेसबुक इंक, दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया और उनसे मामले की अगली सुनवाई की तारीख 28 मार्च को जवाब दाखिल करने को कहा।

अभिनेत्री का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील कार्तिकेय माथुर और के.के. शुक्ला ने हाईकोर्ट को अवगत कराया कि फेसबुक पेज की हैकिंग के बारे में 20 नवंबर को एक शिकायत दर्ज की गई है।

वकीलों ने याचिका में फेसबुक पेज से अश्लील, अनैतिक और अवैध सामग्री को हटाने और खाते को बहाल करने के अलावा मामले की पुलिस जांच का निर्देश देने की मांग की।

याचिकाकर्ता ने कहा कि वह एक प्रमुख भोजपुरी अभिनेत्री हैं और विभिन्न टेलीविजन शो में भी दिखाई देती हैं और उन्हें राष्ट्रीय गौरव पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।

नेहा श्री ने 2012 में अपना फेसबुक अकाउंट और पेज शुरू किया था और तब से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उनके 40 लाख से ज्यादा फॉलोवर हो गए हैं।

उनका पेज 19 अक्टूबर की रात हैक कर लिया गया और उन्हें फेसबुक से एक ईमेल मिला, जिसमें कहा गया था कि फेसबुक पेज की व्यवस्थापक के रूप में नेहा श्री का नाम हटा दिया गया है।

मेल प्राप्त करने के तुरंत बाद नेहा ने फेसबुक को एक शिकायत भेजी, जिसमें उन्होंने हैकिंग के बारे में सूचित किया। हालांकि, उन्हें केवल ऑटो-जेनरेटेड और प्री-टाइप्ड संदेश प्राप्त हुए। उनके खाते को बहाल करने के लिए कुछ भी नहीं किया गया।

हैकिंग के 30 दिन बाद भी शहर में फेसबुक के विभिन्न कार्यालयों में शिकायत के बावजूद समस्या का समाधान नहीं हुआ है।

याचिकाकर्ता ने कहा, हैक किए गए फेसबुक पेज पर अश्लील सामग्री पोस्ट करने के कारण मैंने अपनी छवि जो पिछले 10 वर्षो में कड़ी मेहनत से बनाई थी, प्रतिकूल रूप से प्रभावित हुई है।

नेहा को उनके फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट की जा रही अनैतिक सामग्री के बारे में दोस्तों, रिश्तेदारों, प्रशंसकों और अनुयायियों से मेल प्राप्त हो रहे हैं।

हालांकि याचिकाकर्ता ने उन्हें यह स्पष्ट करने के लिए तर्क देने की कोशिश की है कि हैकर ने अकाउंट पर हमला किया, लेकिन उनके लिए अपने 40 लाख फॉलोवरों तक पहुंचना मुश्किल हो रहा है, जिनके बीच याचिकाकर्ता की प्रतिष्ठा को बुरी तरह से नुकसान पहुंचा है।

–आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.