|

यूपी में 75 बस अड्डों का बदलेगा नाम, 75 बसों को भी मिलेगी नई पहचान

Advertisements


लखनऊ, 6 अगस्त (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के 75 बस स्टैंडों को नयी पहचान मिलने जा रही है। इन बस स्टैंडों का नामकरण स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों पर किये जाने की तैयारी है। आजादी के अमृत महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे लेकर निर्देश दिये हैं। इसके अलावा प्रदेश की 75 बसों को भी स्वतंत्रता समर के योद्धाओं के नाम पर नयी पहचान दी जाएगी। सीएम के निर्देश के बाद अब यूपी रोडवेज की ओर से इसकी तैयारी शुरू कर दी गयी है।

समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर विभिन्न विभागों की ओर से की जा रही तैयारियों का प्रेजेंटेशन देखा। मुख्यमंत्री ने 75वें स्वतंत्रता दिवस को भव्य रूप में मनाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने प्रत्येक जनपद में स्थित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों से जुड़े स्थलों, शहीद स्मारकों पर स्वच्छता अभियान चलाने का निर्देश दिया है। साथ ही शहीद स्मारकों पर पुलिस व पीएसी बैंड द्वारा राष्ट्र धुनों का वादन करने के लिए कहा है।

मुख्यमंत्री ने सभी जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को अपने अपने जिलों के स्वतंत्रता संग्राम शहीदों के परिजनों, पद्म पुरस्कारों से सम्मानित विभूतियों एवं अन्य राष्ट्रीय व राज्य पुरस्कारों से सम्मानित महानुभावों को ससम्मान राष्ट्रीय ध्वज भेंट करने के लिए कहा है।

समीक्षा बैठक में बताया गया कि यूपी में इस बार 4.76 करोड तिरंगा फहराने का लक्ष्य रखा गया है। साथ ही सभी विभागों की ओर से विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाएगा।

इस बार प्रदेश के 58,189 ग्राम पंचायतों के नवनिर्मित ग्राम सचिवालयों में 15 अगस्त को पहली बार ध्वजारोहण एवं जनभागीदारी के साथ भव्य कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसके अलावा प्रदेश के 7500 अमृत सरोवरों पर तिरंगा फहराकर संगोष्ठियों का आयोजन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी ग्राम पंचायतों में 75-75 फलदार पौधों के रोपण का निर्देश दिया है। इसके अलावा प्रत्येक मंडी समिति में 75-75 पल्लेदारों को सम्मानित भी किया जाएगा। साथ ही सभी जिलों में अमृत मिनी मैराथन का आयोजन किया जाएगा, जिसमें पूरे प्रदेश में 75000 लोगों की भागीदारी होगी।

सीएम ने कहा कि समाज के 75 विभिन्न व्यवसायों यथा- डॉक्टर, नर्स, व्यापारी, कृषक, आशा बहुएं, अधिवक्ता, शिक्षक, स्वच्छाग्रही आदि की अपने अपने व्यवसाय का प्रतिनिधित्व करने वाली वेशभूषा में हम सब एक हैं प्रभातफेरी निकाली जाएंगी।

–आईएएनएस

विकेटी/आरएचए


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.