|

चंपावत उपचुनाव में 724 बुजुर्ग तथा दिव्यांग मतदाताओं ने किया मतदान

Advertisements


चम्पावत , 27 मई(आईएएनएस)। उपचुनाव के लिए 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग एवं दिव्यांग मतदाताओं को निर्वाचन आयोग के निदेर्शानुसार मतदान पार्टियां द्वारा घर-घर जाकर मतदान करा लिया गया। प्रारूप 12 में कुल 753 मतदाताओं द्वारा आवेदन किया गया था, जिसमें से 724 बुजुर्ग तथा दिव्यांग मतदाताओं ने अपने वोट डाल दिए। जिलाधिकारी एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नरेंद्र सिंह भंडारी ने बताया कि 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग मतदाता तथा दिव्यांग मतदाता जिनके द्वारा बूथ पर जाकर मतदान करना था, उन्हें बूथ तक लाने हेतु निर्वाचन विभाग की ओर से सहायता प्रदान करने की व्यवस्था की थी। प्रत्येक बूथ में वॉलिंटियर्स के साथ ही विभिन्न कार्मिकों को तैनात किया गया था।

शुक्रवार को जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी कार्मिकों एवं वॉलिंटियर्स के अलावा स्कूलों के प्रधानाचार्य के साथ वर्चुअली बैठक कर मत प्रतिशत बढ़ाने के लिए काम करने के निर्देश दिए। उन्होंने मतदाताओं को बूथ तक लाने हेतु आवश्यक सहयोग करने तथा उन्हें मतदान हेतु प्रेरित करने को कहा था।

उन्होंने कहा कि जिन स्कूली बच्चों ने वॉलिंटियर्स का कार्य कर लोकतंत्र के पर्व में अपनी भागीदारी दी हैं उनके लिए ये एक महत्वपूर्ण कार्य था। जिससे वह मतदान के महत्व के बारे में भी समझ पाएं। उन्होंने कहा कि इस कार्य में बीएलओ ग्राम विकास व ग्राम पंचायत अधिकारी आदि जो कार्मिक लगे थे उन्होंने भी बुजुर्ग तथा दिव्यांग मतदाताओं को मतदान केन्द्र तक लाने एवं ले जाने हेतु आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित की। वर्चुअल बैठक में सीडीओ राजेन्द्र सिंह रावत सहित अन्य उपस्थित रहे।

चम्पावत में 1406 सर्विस मतदाता ऑनलाइन मत पत्रों से करेंगे वोट उपचुनाव में 1406 सर्विस मतदाता ऑनलाइन मत पत्रों के जरिए मतदान करेंगे। सभी कर्मचारियों के मतपत्र डाक के माध्यम से आरओ कार्यालय में पहुंचने शुरू हो गए हैं। इन मत पत्रों को कोषागार में रखा जा रहा है, जिनकी गणना तीन जून को मतगणना के दिन होगी।

सर्विस मतदाताओं की ईटीपीबीएस गणना हेतु कुल 20 कार्मिक लगाए गए हैं। शुक्रवार को इन कार्मिकों को जिला कार्यालय सभागार में प्रशिक्षण दिया गया। जिला निर्वाचन अधिकारी नरेद्र सिंह भंडारी ने सभी ईटीपीबीएस गणना कार्मिकों को गंभीरता से प्रशिक्षण लेने के निर्देश दिए ताकि मतगणना के दिन किसी भी प्रकार की समस्या न हो।

नोडल अधिकारी ईटीपीबीएस एवं उप जिलाधिकारी अनिल चन्याल ने बताया कि ईटीपीबीएस अंतर्गत प्राप्त मतों का ऑनलाइन क्यूआर कोड से मिलान कर गणना का कार्य किया जाएगा। गणना हेतु कुल छह टेबल लगाई गई है। इसके लिए 20 कार्मिक तथा दो एआरओ तैनात किए गए हैं।

–आईएएनएस

स्मिता/एएनएम


Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.