अप्रैल-अक्टूबर के बीच राजकोषीय घाटा सालाना अनुमान का 36.3 प्रतिशत


नई दिल्ली, 30 नवंबर (आईएएनएस)। भारत का अप्रैल-अक्टूबर बजटीय राजकोषीय घाटा वित्त वर्ष 2022 के लक्ष्य के 36.3 प्रतिशत पर पहुंच गया है।

मंगलवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, केंद्र सरकार का राजकोषीय घाटा अक्टूबर के अंत में वित्त वर्ष 2021-22 के सालाना बजटीय लक्ष्य का 36.3 प्रतिशत रहा।

लेखा महानियंत्रक (सीजीए) द्वारा प्रस्तुत आंकड़ों के अनुसार, राजकोषीय घाटा – राजस्व और व्यय के बीच का अंतर – अप्रैल-अक्टूबर 2021-22 की अवधि के लिए 547,026 करोड़ रुपये या बजटीय अनुमान (बीई) का 36.3 प्रतिशत रहा है।

वित्त वर्ष 2022 का घाटा 15.06 लाख करोड़ रुपये आंका गया है।

इसके अलावा, सीजीए के आंकड़ों से पता चलता है कि पिछले वित्त वर्ष के इसी महीने के दौरान राजकोषीय घाटा उस वर्ष के लक्ष्य का 119.7 प्रतिशत था।

केंद्र सरकार का कुल खर्च 1,826,725 करोड़ रुपये (बई अनुमान का 52.4 प्रतिशत) था, जबकि कुल प्राप्तियां (रिसिप्ट्स) 1,279,699 करोड़ रुपये (बीई का 64.7 प्रतिशत) दर्ज किया गया है।

–आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.