केंद्र पर नाराजगी जताते हुए बोले टिकैत, ट्रैक्टर और लोग यहीं के, चाइना या अफगानिस्तान से नहीं आए

15

इस मसले पर राकेश टिकैत ने आईएएनएस से बात की और उन्होंने कहा कि, सरकार आंदोलन में बाहर की फंडिंग, खालिस्तानी, पाकिस्तानी बताते हैं। हम इन सब का नाम तक नहीं लेते। ये ट्रैक्टर अफगानिस्तान से नहीं आए हैं।

LK;

उन्होंने आगे कहा कि, ट्रैक्टर हिंदुस्तान के थे और लोग भी यहीं के थे कोई चाइना से नहीं आया। वहीं 26 तारीख हर महीने आती है। 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस होता है, इस दिन परेड निकलती है।

दरअसल तीन नए अधिनियमित खेत कानूनों के खिलाफ किसान पिछले साल 26 नवंबर से राष्ट्रीय राजधानी की विभिन्न सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

किसान उत्पाद व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अधिनियम 2020, मूल्य आश्वासन और कृषि सेवा अधिनियम 2020 और आवश्यक वस्तु (संशोधन) अधिनियम 2020 पर किसान सशक्तिकरण और संरक्षण समझौता हेतु सरकार का विरोध कर रहे हैं ।

–आईएएनएस

एमएसके/एएनएम

विज्ञापन