जामिया में इस वर्ष पहली बार पीएचडी की ऑफलाइन परीक्षा

19



नई दिल्ली, 22 जून (आईएएनएस)। जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) परिसर के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर मंगलवार को पीएचडी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए ऑफलाइन प्रवेश परीक्षा शुरू हो गई। यह पीएचडी प्रवेश परीक्षा इस साल जामिया द्वारा आयोजित पहली ऑफलाइन-मोड परीक्षा है। पीएचडी के लिए प्रवेश परीक्षा, 28 जून 2021 तक जारी रहेगी। दो पालियों में आयोजित परीक्षा के दौरान सभी कोविड-19 संबंधित दिशानिदेशरें और प्रोटोकॉल का पालन किया गया।

जामिया की कुलपति प्रोफेसर नजमा अख्तर ने कहा कि मौजूदा कोविड-19 महामारी को देखते हुए विश्वविद्यालय के लिए सफलतापूर्वक प्रवेश परीक्षा शुरू कर पाना एक बड़ी चुनौती थी, लेकिन जल्द से जल्द प्रवेश परीक्षा आयोजित करना बहुत जरूरी और समय की जरूरत भी थी।

मंगलवार को मानविकी एवं भाषा संकाय तथा वास्तुकला एवं एकिस्टिक्स संकाय में पीएचडी प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा क्रमश सुबह और दोपहर की पाली में आयोजित की गई। विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों में पीएचडी कार्यक्रम के लिए कुल 12,000 उम्मीदवारों ने आवेदन किया है।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने बताया कि प्रवेश परीक्षा के दौरान कोविड-19 से संबंधित सभी दिशा-निदेशरें और प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है। परीक्षा से एक दिन पहले परीक्षा केंद्रों को सैनिटाइज किया गया और उम्मीदवारों को अपनी पानी की बोतल और पॉकेट साइज हैंड सैनिटाइजर लाने के लिए कहा गया।

परीक्षार्थियों को उचित फेस मास्क और तापमान जांच के साथ, सामाजिक दूरी के मानदंडों का पालन करते हुए परीक्षा केंद्रों में प्रवेश करने की अनुमति दी गई थी। परीक्षा हॉल के अंदर बैठने की व्यवस्था भी सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंडों का पालन करते हुए की गई थी।

विश्वविद्यालय परिसर में विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर बैठने के लिए कुर्सियों, पेडस्टल पंखे आदि के साथ माता-पिता, अभिभावकों के लिए प्रतीक्षालय भी बनाए गए हैं।

–आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम