मोटेरा में 10 विकेट की जीत के साथ भारत ने बनाई 2-1 की बढ़त (राउंडअप)

40


अहमदाबाद, 25 फरवरी (आईएएनएस)। अपने स्पिन गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारतीय क्रिकेट टीम ने मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को इंग्लैंड को 10 विकेट से हराकर चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 की लीड ले ली है।

भारत को जीत के लिए 49 रन बनाने थे, जो उसने बिना विकेट गंवाए 7.4 ओवर में बना लिए। रोहित शर्मा 25 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 25 तथा शुभमन गिल 21 गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 15 रन बनाकर नाबाद रहे।

अक्षर को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। अक्षर ने इस मैच में कुल 11 विकेट लिए।

इस जीत के साथ ही भारत ने जून में होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल खेलने की अपनी दावेदारी मजबूत कर ली है। भारत ने इंग्लैंड को दूसरी बार 10 विकेट से हराया है। इससे पहले भारत ने 2001 में मोहाली में इंग्लैंड को 10 विकेट से शिकस्त दी थी।

इससे पहले, भारत ने अक्षर (5/32) तथा ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (4/48) की शानदार गेंदबाजी से इंग्लैंड की दूसरी पारी 81 रन पर समेट दी।

अश्विन टेस्ट में 400 विकेट लेने वाले भारत के चौथे गेंदबाज बन गए। अश्विन श्रीलंका के पूर्व स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन के बाद सबसे तेजी से यह उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के दूसरे गेंदबाज बन गए।

इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 81 रन पर ऑलआउट होने के साथ ही भारत के खिलाफ टेस्ट में पारी का अपना सबसे न्यूनतम स्कोर बनाया। इससे पहले इंग्लैंड ने 1971 में द ओवल में 101 रन बनाए थे जो उसका भारत के खिलाफ पारी का सबसे न्यूनतम स्कोर था।

इससे पहले आज सुबह भारत ने पहली पारी में अपने कल के स्कोर तीन विकेट पर 99 रन से आगे खेलना शुरू किया और रोहित ने 57 और अजिंक्य रहाणे ने अपनी पारी को एक रन से आगे बढ़ाया। लेकिन भारतीय टीम ने पहले सत्र में 46 रन के अंदर ही अपने सात विकेट गंवा दिए।

कप्तान रूट ने गेंदबाजी का मोर्चा संभालते हुए भारत को पूरी तरह से बैकफुट पर धकेल दिया। रूट ने 8 रन देकर पांच विकेट लिए। भारत की पहली पारी 145 रनों पर आउट हुई। जैक लीच ने चार विकेट लिए। भारत को पहली पारी की तुलना में 33 रनों की लीड मिली।

रूट किसी भी टेस्ट मैच में पांच विकेट लेने वाले 1983 के बाद से इंग्लैंड के पहले कप्तान बन गए हैं। उनसे पहले बॉब विलिस ने 1983 में पांच विकेट लिए थे।

भारत को पहली पारी में सिमेटने के बाद बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की दूसरी पारी में शुरुआत बेहद खराब रही और अक्षर ने पहली ही गेंद पर जैक क्रावली को बोल्ड कर पवेलियन भेज दिया। अक्षर इसके साथ ही पहली गेंद पर विकेट लेने वाले दुनिया के चौथे और भारत के दूसरे स्पिन गेंदबाज बन गए।

अक्षर ने इसके बाद तीसरी गेंद पर जॉनी बेयरस्टो को बोल्ड किया और इंग्लैंड को दूसरा झटका दिया। शुरुआती झटकों से लड़खड़ाई इंग्लैंड को तीसरा झटका भी अक्षर ने डोमिनिक सिब्ले को विकेट के पीछे ऋषभ पंत के हाथों कैच कराकर दिया। सिब्ले ने 25 गेंदों पर सात रन बनाए।

इंग्लैंड को कप्तान जोए रूट ने बेन स्टोक्स के साथ संभालने की कोशिश की लेकिन अश्विन ने स्टोक्स को पगबाधा आउट कर इंग्लैंड को संभलने का मौका नहीं दिया। अश्विन ने टेस्ट मैचों में स्टोक्स को 11वीं बार आउट किया। स्टोक्स के आउट होने के कुछ देर बाद ही अक्षर ने रूट को पगबाधा आउट कर पवेलियन भेजा और इंग्लैंड को पांचवां झटका दिया। रूट ने 45 गेंदें खेल 19 रन बनाए।

अश्विन ने ओली पोप को बोल्ड कर आउट किया। पोप ने 15 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 12 रन बनाए। इंग्लैंड को सातवां झटका अश्विन ने जोफ्रा आर्चर को पगबाधा आउट कर दिया। आर्चर दो गेंद खेल खाता खोल बिना आउट हुए।

इसके बाद विकेटकीपर बल्लेबाज बेन फोक्स अक्षर की गेंद पर पगबाधा करार दिए गए और आठवें बल्लेबाज के रुप में पवेलियन लौटे। फोक्स ने 28 गेंदों पर आठ रन बनाए। निचले क्रम के बल्लेबाज जैक लीच को अश्विन ने अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच कराकर आउट किया। लीच ने 22 गेंदों पर नौ रन में एक छक्का जड़ा।

टीम के अन्य स्पिन गेंदबाज वाशिंगटन सुंदर ने अपने पहले ओवर की चौथी गेंद पर जेम्स एंडरसन को विकेट के पीछे पंत के हाथों कैच कराकर इंग्लैंड की दूसरी पारी समाप्त कर दी। एंडरसन खाता खोले बिना आउट हुए जबकि स्टुअर्ट ब्रॉड एक रन बनाकर नाबाद रहे।

भारत और इंग्लैंड के बीच अब टेस्ट सीरीज का चौथा और आखिरी मुकाबला इसी मैदान पर चार मार्च से खेला जाएगा।

— आईएएनएस

एसकेबी-जेएनएस

विज्ञापन
Footer code: