TOP NEWS : दिशानिर्देशों के तहत खोले जाएंगे जवाहर नवोदय विद्यालय : निशंक

5


नई दिल्ली, 4 फरवरी (आईएएनएस)। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के मुताबिक नवोदय विद्यालय कक्षा 9 से 12 के छात्रों के लिए फिर से खोले जाएंगे। ऐसा उन राज्यों में संभव होगा, जहां स्कूल एवं शिक्षण संस्थान खोलने की अनुमति दी गई है। इन राज्यों में सभी सुरक्षा उपायों एवं कोरोना संबंधी दिशानिर्देशो का पालन करते हुए जवाहर नवोदय विद्यालय खोले जाएंगे।

शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले देशभर के 647 जवाहर नवोदय विद्यालय कोरोना महामारी के कारण मार्च 2020 की वार्षिक परीक्षाओं के बाद से बंद कर दिए गए थे। हालांकि शिक्षा मंत्रालय द्वारा देशभर में छात्रों के लिए अनवरत शिक्षा जारी रखने के प्रयास में शुरू की गई ऑनलाइन शिक्षा व्यवस्था के तहत सभी जवाहर नवोदय विद्यालयों ने 15 जून 2020 से अपने सभी छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं शुरू कर दी थीं।

सभी जवाहर नवोदय विद्यालयों ने समय-समय पर ऑनलाइन मूल्यांकन भी किया और जिन छात्रों के पास ऑनलाइन शिक्षा ग्रहण करने के लिए उपकरण नहीं थे, उन्हें विशेष माध्यम से पाठ्य पुस्तकें, शिक्षण सामग्री इत्यादि उपलब्ध करवाई।

विद्यालयों को दोबारा खोले जाने के बारे में बताते हुए केंद्रीय मंत्री निशंक ने कहा, गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों के अनुसार देश भर में स्कूल फिर से खुलने लगे हैं। सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं की तिथियां एवं डेट शीट भी जारी की जा चुकी हैं। ऐसे में शिक्षा मंत्रालय ने देशभर के जवाहर नवोदय विद्यालयों को भी फिर से खोलने का निर्णय लिया है ताकि बोर्ड परीक्षाएं देने वाले छात्र अपनी तैयारियां बेहतर तरीके से कर सकें। इसके अलावा हमने यह भी निर्णय लिया है कि कक्षा 9 और 12 के छात्रों के लिए भी विद्यालय फिर से खोल दिए हैं।

उन्होंने बताया कि शिक्षा मंत्रालय ने विद्यालयों को पुन खोलने के लिए, गृह मंत्रालय तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) तैयार की है। देश भर के सभी जवाहर नवोदय विद्यालय पहले से ही सभी ऐहतियात जैसे विद्यालयों को सैनिटाइज करना, सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए कक्षाओं को संचालित करना एवं छात्रावासों में सभी प्रकार के ऐहतियात बरतते हुए छात्रों के ठहरने की व्यवस्था करना, आपातकालीन स्थितियों से निपटने के लिए कोविड प्रबंधन प्रोटोकॉल आदि, का पालन कर रहे हैं।

डॉ. निशंक ने यह भी बताया कि प्रत्येक जवाहर नवोदय विद्यालय शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी की गई मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) के आधार पर एक टास्क फोर्स गठित कर रहे हैं जो कोविड महामारी से उत्पन्न स्थिति के प्रभावी प्रबंधन हेतु राज्य सरकार के एसओपी पर आधारित एवं जिला प्रशासन के परामर्श से अपनी एसओपी तैयार करेगी।

इसके अलावा शिक्षा मंत्रालय ने नए जवाहर नवोदय विद्यालय बनाने की भी घोषणा की है। पिछले एक साल में 9 नए जवाहर नवोदय विद्यालय खोले गए, 10 नए भवनों की नींव रखी गई, 5000 छात्रों के लिए डोरमेट्री का निर्माण किया गया, और 176 जगहों पर सौर ऊर्जा लगाई गई।

शिक्षा मंत्रालय की तरफ से यह भी कहा गया है कि केंद्रीय विद्यालयों में 8420 शिक्षकों और जवाहर नवोदय विद्यालयों में 1394 शिक्षकों की नियुक्ति जल्दी की जाएगी।

–आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम


यह आर्टिकल LHK MEDIA (LIVEHINDIKHABAR.COM) के के द्वारा पब्लिश किया गया