हसीना के काफिले पर 2002 में हुए हमले के आरोपी 50 बीएनपी कार्यकर्ताओं को जेल

2


ढाका, 4 फरवरी (आईएएनएस)। बांग्लादेश की एक अदालत ने गुरुवार को सांसद हबीबुल इस्लाम हबीब सहित 50 बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) के कार्यकर्ताओं को सतखिड़ा में प्रधानमंत्री शेख हसीना के काफिले पर 2002 में हुए हमले के मामले में 19 साल बाद सजा सुनाई।

यह फैसला सतखिड़ा अदालत के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हुमायूं कबीर ने सुनाया।

गुरुवार को फैसले के दौरान, 50 में से 34 आरोपी अदालत के सामने मौजूद थे।

सभी आरोपी बीएनपी के कार्यकर्ता और एक्टिवस्ट हैं, जिसमें हबीब और दो अन्य 10 साल की जेल की सजा काट रहे हैं।

50 आरोपियों में से एक, बीएनपी आर्म्स कैडर टाइगर खोकन पहले से ही एक अन्य मामले में जेल की सजा काट रहा है।

इन 50 लोगों में से स्थानीय बीएनपी नेता अब्दुल कादर बच्चू सहित 15 फरार हैं।

30 अगस्त, 2002 को तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष शेख के काफिला पर हमला हुआ था। रिपोर्ट्स के अनुसार, यह हमला बीएनपी आर्म्स कैडरों की ओर से हुआ था, जिसमें फायरिंग और बम विस्फोट शामिल था।

हसीना सतखिड़ा में एक स्वतंत्रता सेनानी की पत्नी से मिलने के बाद वापस जेस्सोर जा रही थी, जिसका बीएनपी कार्यकर्ताओं द्वारा दुष्कर्म किया गया था। आरोप लगाया गया कि तत्कालीन सांसद और पार्टी के जिला अध्यक्ष हबीबुल इस्लाम हबीब के निर्देशों पर यह घटनाक्रम हुआ था।

हसीना हमले में बच गईं, लेकिन अवामी लीग के 12 से अधिक नेता और कार्यकर्ता घायल हो गए थे।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके


यह आर्टिकल LHK MEDIA (LIVEHINDIKHABAR.COM) के के द्वारा पब्लिश किया गया