एमईए ने गलवान पर कब कड़ा बयान जारी किया : कांग्रेस

12


नई दिल्ली, 4 फरवरी (आईएएनएस)। विदेश मंत्रालय (एमईए) द्वारा अंतरराष्ट्रीय हस्तियों के ट्वीट पर कड़ा बयान जारी करने के बाद कांग्रेस ने गुरुवार को तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की।

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, एमईए कब चीन के गलवान, अरुणाचल घुसपैठ को रोकने के लिए, भारतीय नाविकों को हिरासत में लेने के लिए चीन के खिलाफ कड़ा बयान जारी कर रहा है? जब ऑन-स्क्रीन माचोमैन और खिलाड़ी चीन के दुस्साहस की निंदा करने के लिए कॉपी-पेस्ट कर रहे हैं? क्या चीन पर ट्वीट करने के लिए कान्ये वेस्ट की जरूरत है?

जबकि पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि यह अच्छा है कि रिहाना और ग्रेटा थनबर्ग एमईए को जगा सकते हैं।

उन्होंने कहा, एमईए, आप कब महसूस करेंगे कि मानवाधिकारों और आजीविका के मुद्दों से संबंधित लोग राष्ट्रीय सीमाओं को नहीं पहचानते हैं? म्यांमार में सैन्य तख्तापलट पर विदेश मंत्रालय ने टिप्पणी क्यों की? यह एमईए के लिए बहुत चिंताजनक क्यों है?

चिदंबरम ने कहा, एमईए नियमित रूप से उन मुद्दों पर टिप्पणी करता है जो श्रीलंका और नेपाल के लिए आंतरिक हैं और ट्रंप के समर्थकों द्वारा वाशिंगटन में कैपिटल बिल्डिंग पर हमले पर भारत के पीएम ने टिप्पणी क्यों की थी?

अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की भतीजी मीना हैरिस और कुछ अंतर्राष्ट्रीय हस्तियों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत भारतीय प्रदर्शनकारियों को बुधवार को अपना समर्थन दिया।

एक सख्त प्रतिक्रिया में सरकार ने उन्हें निहित स्वार्थ समूहों का हिस्सा बताया और उनके समर्थन को सनसनीखेज सोशल मीडिया हैशटैग और टिप्पणियों के रूप में वर्णित किया, जो न तो सटीक और न ही जिम्मेदार हैं।

–आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी


यह आर्टिकल LHK MEDIA (LIVEHINDIKHABAR.COM) के के द्वारा पब्लिश किया गया