किसानों के प्रदर्शन से लोगों को हो रही है परेशानी : जी. किशन

5


नई दिल्ली, 3 फरवरी (आईएएनएस)। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने बुधवार को संसद में कहा कि कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग पर अड़े किसानों के विरोध-प्रदर्शन के कारण राष्ट्रीय राजधानी और पड़ोसी राज्यों के लोगों को बहुत परेशानी हो रही है।

सदन में एक प्रश्न के उत्तर में रेड्डी ने कहा कि आंदोलनरत किसानों ने गाजीपुर, चिल्ला, टिकरी और सिंघु बॉर्डर जाम कर दिया है और इसके कारण लोगों को बहुत परेशानी हो रही है। दिल्ली पुलिस ने इस बाबत केंद्र के साथ सूचना साझा की है।

उन्होंने आगे कहा कि किसी भी तरह के आंदोलन के परिणामस्वरूप लोगों को और सरकारों को भी आर्थिक नुकसान होता है।

किसानों के विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए सड़कों पर बैरिकेड लगा दिए गए हैं। इस कारण लोगों को कई जगह ट्रैफिक जाम की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। कई जगहों पर मार्ग परिवर्तित कर दिए गए हैं।

बुधवार को गाजीपुर बॉर्डर, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे, एनएच-9 और एनएच-24 बंद होने के कारण स्थिति और बिगड़ गई। शहर के विभिन्न हिस्सों में ट्रैफिक जाम की स्थिति देखी गई। एनएच-24 से जुड़े लगभग सभी मार्गो के बंद होने से शहर के पूर्वी हिस्से में सड़कों पर वाहनों की लंबी कतार देखी गई।

गाजीपुर बॉर्डर अभी भी पूरी तरह बंद है। एनएच-24, एनएच-9, रोड संख्या 56, 57ए, कोंडली, पेपर मार्केट, टेल्को टी पॉइंट, ईडीएम मॉल, अक्षरधाम व अन्य इलाकों से वाहनों के लिए मार्ग परिवर्तित कर दिया गया है। विकास मार्ग, आईपी एक्सटेंशन और एनएच-24 पर भी वाहनों की लंबी कतारें देखी गईं।

गौरतलब है कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा की घटनाओं के मद्देनजर पूरी दिल्ली में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। किसानों ने लालकिले पर धार्मिक ध्वज के साथ-साथ अपने संगठन का भी झंडा फहरा दिया था।

इस हिंसा में एक किसान की मौत हो गई थी, जबकि 300 से अधिक पुलिसकर्मी बुरी तरह घायल हो गए थे। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में 44 केस दर्ज किए हैं और अब तक 122 लोगों को गिरफ्तार किया है।

–आईएएनएस

एसआरएस/एसजीके


यह आर्टिकल LHK MEDIA (LIVEHINDIKHABAR.COM) के के द्वारा पब्लिश किया गया

विज्ञापन
Footer code: