ब्रिटेन में महामारी के दौरान फंड जुटाने के नायक टॉम मूर का कोरोना से निधन

7


लंदन, 3 फरवरी (आईएएनएस)। ब्रिटिश सेना के पूर्व सैनिक टॉम मूर, जिन्होंने पिछले साल कोविड-19 महामारी से लड़ने में ब्रिटेन की स्वास्थ्य सेवा में मदद के लिए लाखों पाउंड जुटाए, का अस्पताल में कोरोनावायरस के चलते निधन हो गया। वह 100 साल के थे।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, उनकी बेटियों ने मंगलवार को उनके निधन की पुष्टि करते हुए एक बयान में कहा कि वह पिछले हफ्तों के दौरान निमोनिया से जूझ रहे थे और जांच में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

सप्ताहांत में सांस लेने में समस्या की वजह से पूर्वी इंग्लैंड के बेडफोर्डशायर में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके परिवार ने कहा कि सोमवार को उनके जीवन की अंतिम घड़ी तक परिवार के लोग उनके साथ मौजूद रहे।

परिवार की ओर से एक बयान में कहा गया, हमारे पिता के जीवन का अंतिम वर्ष उल्लेखनीय से कमतर नहीं था। उन्होंने उन चीजों का अनुभव किया, जिनका उन्होंने सपना देखा था।

पिछले अप्रैल में 100 साल के हो गए मूर ने पिछले साल देश के पहले कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान अपने बगीचे के चारों ओर 100 लेंथ तक पैदल चलकर 3.2 करोड़ पाउंड (लगभग 4.365 करोड़) जुटाए थे।

उनके धन जुटाने के प्रयासों ने देश के लोगों के दिलों को जीत लिया और उन्हें जुलाई में महारानी द्वारा उन्हें नाइटहुड से सम्मानित किया गया था।

बकिंघम पैलेस के प्रवक्ता ने मंगलवार को कहा कि महारानी ने मूर के परिवार के प्रति संवेदना जताते हुए निजी संदेश भेजा है। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भी परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की।

बीबीसी के मुताबिक, 10 डाउनिंग स्ट्रीट ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए झंडा आधा झुका दिया।

मंगलवार को देश में कोरोनोवायरस के कुल मामलों की संख्या 3,852,623 थी। कोविड विरोधी लड़ाई जिसका उन्होंने पिछले साल समर्थन किया था, अभी भी ब्रिटेन में जारी है।

देश में महामारी के प्रकोप के बाद से इंग्लैंड वर्तमान में तीसरे राष्ट्रीय लॉकडाउन के तहत है।

–आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी


यह आर्टिकल LHK MEDIA (LIVEHINDIKHABAR.COM) के के द्वारा पब्लिश किया गया