उप्र सरकार ने राज्य में 241 कोविड अस्पतालों को किया डिनोटिफाइ

5


लखनऊ, 3 फरवरी (आईएएनएस)। कोरोनावायरस के नए मामलों में गिरावट के साथ, उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में कोविड-19 मामलों के इलाज के लिए पहले से चिह्न्ति 324 अस्पतालों में से 241 को डिनोटिफाइ करने के लिए नए आदेश जारी किए हैं।

अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद द्वारा जारी आदेशों के अनुसार, बुधवार से सभी डिनोटिफाइड अस्पतालों में सामान्य चिकित्सा सुविधाएं फिर से शुरू हो जाएंगी।

उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में से केवल अलीगढ़, गौतमबुद्ध नगर, लखनऊ और मेरठ में एक से अधिक कोविड अस्पताल होंगे।

इस कदम का उद्देश्य गैर-कोविड स्वास्थ्य सुविधाओं को सामान्य स्थिति में लाना और समुचित स्वच्छता के बाद मेडिकल कॉलेजों में कक्षाएं फिर से शुरू करना सुनिश्चित करना है।

हालांकि, जिला प्रशासन को अपने संबंधित क्षेत्रों में जरूरत पड़ने पर डिनोटिफाइड अस्पतालों को सूचित करने के लिए कहा गया है। पांच दिनों के नोटिस के बाद सुविधाओं को कोरोना रोगियों के उपचार को फिर से शुरू करना होगा।

आदेश में कहा गया, सूचीबद्ध अस्पतालों के अलावा, अन्य सभी अधिसूचित अस्पतालों को डिनोटिफाइड कर दिया गया है। अच्छी तरह से सैनिटाइजेशन के बाद, सभी डिनोटिफाइड अस्पताल अन्य रोगियों के उपचार को फिर से शुरू करेंगे। टीकाकरण अभियान के परिणामस्वरूप, सक्रिय क्वारंटीन प्रणाली 15 मार्च को समाप्त हो जाएगी।

राज्य में 5,007 सक्रिय मामले हैं, जिनमें बिना लक्षणों वाले 1,341 मरीज घर पर आइसोलेशन में हैं और 420 निजी अस्पतालों में हैं।

83 अस्पताल, जो कोरोना मामलों का इलाज करना जारी रखेंगे, सभी 75 जिलों में फैले हुए हैं, जिनकी कुल बेड क्षमता 17,235 है।

–आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी


यह आर्टिकल LHK MEDIA (LIVEHINDIKHABAR.COM) के के द्वारा पब्लिश किया गया