मौजूदा सत्र के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय का संशोधित एकेडेमिक कैलेंडर

110



नई दिल्ली, 23 जून (आईएएनएस)। दिल्ली विश्वविद्यालय ने कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए अभी से अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलसचिव विकास गुप्ता ने बताया कि कोरोना की रोकथाम में सबसे बड़ा कदम वैक्सीनेशन है, जिसको लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन सजग है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलसचिव विकास गुप्ता के मुताबिक विश्वविद्यालय के कुछ कॉलेजों और हेल्थ केयर सेंटर्स में कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर्स बनाए गए हैं। इसके साथ ही कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए कोविड फैसिलिटी सेंटर पर भी तैयारी चल रही है। जानकी देवी मेमोरियल कॉलेज और हंसराज कॉलेज ने कोरोना फैसिलिटी स्थापित करने के लिए इंफ्रास्ट्रक्च र मुहैया कराने का ऑफर दिया है।

वहीं दिल्ली विश्वविद्यालय ने मौजूदा शैक्षणिक सत्र के लिए संशोधित एकेडेमिक कैलेंडर जारी किया है। इस संशोधित एकेडेमिक कैलेंडर में बताया गया है कि दिल्ली विश्वविद्यालय में फस्र्ट ईयर परीक्षा की तैयारी के लिए प्रिपरेटरी ब्रेक और प्रैक्टिल 3 अगस्त से 11 अगस्त तक होंगे। इसके बाद 12 अगस्त से 24 अगस्त तक प्रथम वर्ष की परीक्षाएं आयोजित की।

प्रथम वर्ष की परीक्षाएं के उपरांत 25 से 30 अगस्त तक सेमेस्टर ब्रेक रहेगा। 31 अगस्त से अगला शैक्षणिक सत्र शुरू होगा। विश्वविद्यालय के मुताबिक 15 जुलाई से डीयू में दाखिले के लिए आवेदन पत्र जारी किए जा सकते हैं।

कोरोना की दूसरी लहर के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय में ओपन बुक परीक्षाएं 7 जून से प्रारंभ हुई थीं। यह परीक्षाएं केवल अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए थीं। रेगुलर, एसओएल और एनसीवेब तीनों ही श्रेणी के छात्रों के लिए यह परीक्षाएं आयोजित की गईं।

दिल्ली विश्वविद्यालय ने इस बार छात्रों को परीक्षा देने के लिए तीन घंटे और प्रश्नपत्र डाउनलोड करने एवं उत्तर पुस्तिका अपलोड करने के लिए 60 मिनट का समय दिया। सभी श्रेणी के छात्रों के लिए यह परीक्षा केवल ऑनलाइन माध्यमों से ही करवाई गई।

दिल्ली विश्वविद्यालय के मुताबिक पहले अंतिम वर्ष के छात्रों की यह परीक्षा 1 जून से होनी थी। ओबीई परीक्षा यानी ओपन बुक एग्जाम कोरोना के कारण उत्पन्न हुई स्थिति को देखते हुए 7 जून से आयोजित की गईं।

–आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम