तेलंगाना के 3 जिलों में सीरो-सर्वे का चौथा दौर शुरू

20



हैदराबाद, 22 जून (आईएएनएस)। राष्ट्रीय पोषण संस्थान (एनआईएन) ने तेलंगाना सरकार के साथ मिलकर मंगलवार को तीन जिलों में समुदाय आधारित सीरो निगरानी का चौथा दौर शुरू किया है।

जनगांव, कामारेड्डी और नलगोंडा जिलों में किया गया। यह सर्वे व्यक्तियों के बीच एंटीबॉडी के गठन का टेस्ट करने के लिए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की देशव्यापी सीरो-निगरानी पहल का हिस्सा है।

इन जिलों में पिछले साल मई, अगस्त और दिसंबर में तीन दौर का सर्वे किया गया था। पहली बार छह से नौ साल के बच्चे भी सीरो-सर्वे का हिस्सा होंगे।

पिछले दौर की तरह 10 साल से 17 साल के किशोरों, 18 साल से ऊपर के वयस्कों और स्वास्थ्य कर्मियों (एचसीडब्ल्यू) को कवर किया जाएगा।

आईसीएमआर-एनआईएन में जन स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख और सर्वे के समन्वयक डॉ ए लक्ष्मैया ने कहा कि तीन जिलों में से प्रत्येक के 10 गांवों से लगभग 400 लोगों को कवर किया जाएगा।

प्रत्येक जिले से जिला अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के सौ एचसीडब्ल्यू को कवर किया जाएगा।

अधिकारियों के मुताबिक, इससे सामान्य आबादी और फ्रंटलाइन वर्कर्स में सार्स-कोविड-2 संक्रमण के संचरण के रुझानों पर नजर रखने में मदद मिलती है।

सर्वे का निष्कर्ष सरकार को महामारी नियंत्रण उपायों को मजबूत करने और पॉजिटिव मामलों को कम करने में मदद करते हैं।

आईसीएमआर-एनआईएन की निदेशक डॉ हेमलता आर ने कहा, जनसंख्या आधारित सीरो महामारी विज्ञान अध्ययन हमें सामुदायिक स्तर पर कोविड-19 संक्रमण के बोझ को निर्धारित करने में मदद करेगा। इस उद्देश्य के लिए, हम तेलंगाना राज्य सरकार के सहयोग से सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं।

–आईएएनएस

एचके/आरजेएस