तीसरी लहर के कारण अफ्रीका के कोविड मामलों में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी : डब्ल्यूएचओ

15

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, अफ्रीका के डब्ल्यूएचओ के क्षेत्रीय निदेशक, मात्शिदिसो मोइती ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि महाद्वीप पहले से ही तीसरी लहर से जूझ रहा है, जो पहले से ही नाजुक सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणालियों का सामना कर रहा है।

LK;

मोइती ने बयान में कहा, अफ्रीका एक पूर्ण विकसित तीसरी लहर के बीच में है। बढ़ते मामलों की गंभीरता को देखते हुए तत्काल कार्रवाई की आवश्यता है।

डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों से संकेत मिलता है कि अफ्रीका के नए कोविड -19 मामले 13 जून को समाप्त सप्ताह में बढ़कर 116,500 से ज्यादा हो गए, जो पिछले सप्ताह के 91,000 था।

मोइती ने कहा कि 22 अफ्रीकी देशों ने 13 जून को समाप्त सप्ताह में कोरोनोवायरस संक्रमण में 20 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़ोतरी का अनुभव किया, जबकि एक ही सप्ताह में 36 देशों में मृत्यु दर में 15 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

उसने कहा कि कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (डीआरसी), नामीबिया और युगांडा ने महाद्वीप में महामारी की सूचना के बाद से सबसे अधिक नए साप्ताहिक मामले दर्ज किए हैं।

मोइती के अनुसार, दक्षिणी अफ्रीकी क्षेत्र में ठंड के मौसम के साथ संयुक्त रूप से कोविड -19 उपायों में ढील और नए वेरिएंट महाद्वीप में नए उछाल का कारण हैं।

14 अफ्रीकी देशों में डेल्टा संस्करण की सूचना मिली है, जबकि महाद्वीप के 25 देशों में अल्फा और बीटा वैरिएंट का पता चला है।

–आईएएनएस

एसएस/आरएचए

विज्ञापन