महाराष्ट्र में परीक्षा का विरोध होने के बाद बोर्ड एग्जाम स्थगित

28

महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि महाराष्ट्र की वर्तमान कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए, हमने कक्षा 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षा स्थगित कर दी है। वर्तमान परिस्थितियां परीक्षा आयोजित करने के लिए अनुकूल नहीं हैं। छात्रों का स्वास्थ्य हमारी प्राथमिकता है।

LK;

शिक्षामंत्री ने ट्विटर पर कहा, प्रोफेशनल कोर्सेज के लिए प्रवेश परीक्षाओं की डेट्स को ध्यान में रखते हुए, कक्षा 12वीं की परीक्षाएं मई के अंत तक आयोजित की जाएंगी, जबकि 10 वीं कक्षा की परीक्षाएं जून में होंगी। हम स्वास्थ्य की स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। इन परीक्षाओं के लिए नए सिरे से तारीखों की घोषणा जल्द की जाएगी।

शिक्षामंत्री के ट्वीट आने के बाद सिंगर अरमान मलिक ने कहा, मुझे नहीं लगता कि ऐसी स्थिति में परीक्षा आयोजित की जानी चाहिए। कृपया भारत में उन लाखों छात्रों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को ध्यान में रखें, जो इन परीक्षाओं के लिए फिर से तैयारी शुरू कर रहे हैं। हां शिक्षा महत्वपूर्ण है लेकिन स्वास्थ्य की कीमत पर नहीं।

उन्होंने आगे कहा, मैं नहीं जानता कि मेरी आवाज काफी है, लेकिन मुझे आशा और विश्वास है कि संबंधित अधिकारी इस पर ध्यान देंगे और देश में छात्रों के हित में फैसला लेंगे। यह विनम्र अनुरोध है।

वहीं सोनू सूद ने भी कहा, मैं उन सभी छात्रों से समर्थन करने का अनुरोध करता हूं, जो इस कठिन समय में ऑफलाइन बोर्ड परीक्षा में बैठने के लिए मजबूर हैं। एक दिन में 1 लाख 45 हजार से ज्यादा कोरोना वायरस के मामलों की संख्या चिंताजनक है। मुझे लगता है कि इतने सारे छात्रों के जीवन को जोखिम में डालने के बजाय, विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रमोट करने के लिए आंतरिक मूल्यांकन पद्धति होनी चाहिए।

बॉलीवुड अभिनेत्री रवीना टंडन ने ट्वीट करते हुए लिखा, अपने बोर्ड परीक्षा के लिए उपस्थित होने वाले सभी छात्रों के लिए ये वक्त बहुत ही तनावपूर्ण है। जब सभी राज्य लॉकडाउन की ओर हैं तो बच्चे परीक्षा देने के लिए बाहर जाये। जिन बच्चों के घरों में बुजुर्ग और माता-पिता को स्वास्थ्य संबंधी समस्या है। उन सदस्यों को भी वे बच्चे जोखिम में डाल देंगे।

संगीत कंपोजर विशाल ददलानी ने पिछले हफ्ते ट्वीट कर कहा था, कर्फ्यू और हर जगह लॉकडाउन का डर.. रेस्तरां और बार जल्दी बंद, कई जगहों पर धारा 144, कारों में मास्क लेकिन .. छात्रों को परीक्षा केंद्र पर आकर परीक्षा देनी चाहिए? इस बेतुकी प्लानिंग को तुरंत रोकना चाहिए।

–आईएएनएस

एचके/एएनएम

विज्ञापन